पतंजलि गिलोय घनवटी का उपयोग | Patanjali Giloy Ghanvati Uses in Hindi

क्या आप बार-बार संक्रमण, बुखार, खांसी और जुकाम से पीड़ित हैं? आपके नियमित आहार में पर्याप्त एंटी-ऑक्सीडेंट की कमी है। एंटी-ऑक्सीडेंट की आवश्यकता को पूरा करने के लिए पतंजलि गिलोय घनवती (Patanjali Giloy Ghanvati) एक बेहतरीन विकल्प है। यह रक्त को शुद्ध करता है, प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाता है।

पतंजलि गिलोय घनवती का उपयोग सामान्य बुखार, त्वचा और मूत्र विकारों के उपचार के लिए किया जाता है। यह डेंगू और चिकन गिनी के लिए भी फायदेमंद हो सकता है।

गिलोय घनवती में मुख्य घटक के रूप में गिलोय (टिनोस्पोरा कॉर्डिफोलिया) होता है। गिलोय सभी प्रकार के ज्वर और मुत्र विकार (मूत्र पथ के विकार) के लिए बहुत प्रभावी है।

गिलोय घनवती लीवर के कार्यों की मरम्मत करती है और रक्त को शुद्ध करती है। यह मधुमेह के लिए भी प्रभावी है और साथ ही यह रक्त में रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है

Patanjali Giloy Ghanvati Uses in Hindi

पतंजलि गिलोय घनवटी की मुख्य सामग्री

इसमें मुख्य रूप से गिलोय (टिनोस्पोरा कॉर्डिफोलिया) होता है।

पतंजलि गिलोय घनवती के फायदे

गिलोय घनवती के कई स्वास्थ्य लाभ हैं-

  • बुखार, खांसी और जुकाम के लिए बहुत असरदार
  • रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है
  • रक्त शुद्ध करता है
  • लीवर की कोशिकाओं की मरम्मत करता है
  • यकृत विकारों जैसे हेपेटाइटिस, पीलिया आदि के लिए बहुत उपयोगी है
  • भूख में सुधार करता है
  • त्वचा विकारों, चकत्ते, फुंसी आदि के लिए प्रभावी
  • यह मूत्र पथ के विकारों को भी ठीक करता है

पतंजलि गिलोय घनवटी की खुराक

टैबलेट की सामान्य खुराक 1 टैबलेट बीडी (दिन में दो बार) है। लेकिन इसे लेने से पहले आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

पतंजलि गिलोय घनवती के साइड इफेक्ट

खैर, यह एक हर्बल उत्पाद है और टैबलेट का ऐसा कोई दुष्प्रभाव नहीं है। लेकिन इसे लेने से पहले आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

Patanjali Giloy Ghanvati Uses in Hindi

FAQ: पतंजलि गिलोय घनवटी का उपयोग

पतंजलि गिलोय घनवती का क्या उपयोग है?

गिलोय घनवती प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाती है और सभी प्रकार के बुखार, सर्दी और खांसी के लिए बहुत प्रभावी है। यह रक्त को भी शुद्ध करता है, लीवर के क्षतिग्रस्त ऊतकों को ठीक करता है।

क्या पतंजलि गिलोय घनवती बुखार का इलाज कर सकती है?

हां, इसमें ज्वरनाशक गुण होते हैं, जिसका अर्थ है कि यह बुखार के लिए बहुत प्रभावी है। इसका उपयोग डेंगू और चिकन गिनी के कारण होने वाले बुखार के लिए भी किया जा सकता है।

क्या गिलोय घनवती टेबलेट के रूप में उपलब्ध है?

हाँ, यह टैबलेट के रूप में उपलब्ध है। 60 टैबलेट की कीमत करीब 100 रुपये है।

क्या पतंजलि गिलोय घनवती लीवर की खराबी के लिए उपयोगी है?

हाँ, यह लीवर के क्षतिग्रस्त ऊतकों की मरम्मत करता है और लीवर के कार्यों में सुधार करता है।

निष्कर्ष

पतंजलि गिलोय घनवती गिलोय के अर्क से बनाई जाती है। यह बुखार और जिगर की खराबी के लिए एक प्रभावी उपाय है। यह रक्त को भी शुद्ध करता है और प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाता है। यह यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (UTI) के लिए भी बहुत प्रभावी है।

अस्वीकरण

पतंजलि गिलोय घनवती के उपयोग पर यह लेख केवल सूचना के उद्देश्य से है। हम किसी को डॉक्टर की सलाह के बिना इसका इस्तेमाल करने की सलाह नहीं देते हैं।

5/5 - (3 votes)
Spread the love

Leave a Comment