डीआरडीओ का फुल फॉर्म हिंदी में | DRDO Ka Full Form in Hindi

हम में से कई लोग हथियारों और गोला-बारूद, सैन्य समाचार, टैंक, बख्तरबंद वाहनों, मिसाइलों में हाल के विकास आदि के बारे में जानने के लिए बहुत उत्सुक हैं। क्या आप इस श्रेणी से संबंधित हैं? मुझे कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं। खैर, क्या आप DRDO का फुल फॉर्म हिंदी में जानते हैं? अगर आप नहीं जानते हैं तो इस पोस्ट को पढ़ते रहें।

DRDO का फुल फॉर्म क्या है?

DRDO का फुल फॉर्म (DRDO full form) रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन है। यह भारत में रक्षा उपकरणों का सबसे बड़ा उत्पादक है। यह वैमानिकी, आयुध, इलेक्ट्रॉनिक्स आदि से रक्षा उपकरणों को विकसित करने में लगा हुआ है।

DRDO Ka Full Form in Hindi

नई दिल्ली में मुख्यालय डीआरडीओ रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में रक्षा मंत्रालय के तहत कार्य करता है। DRDO के मौजूदा अध्यक्ष जी सतीश रेड्डी हैं।

DRDO LCA Tejas

DRDO ने LCA तेजस के लिए कई महत्वपूर्ण पुर्जे और उपकरण विकसित किए हैं जो भारत का पहला स्वदेशी रूप से विकसित विमान है। इसके अलावा, निशांत सामरिक यूएवी (मानव रहित हवाई वाहन), लक्ष्य पीटीए (पायलट रहित लक्ष्य विमान) और उन्नत रुस्तम यूएवी (ड्रोन)।

DRDO ने भारतीय सेना के लिए उन्नत बुलेट-प्रूफ जैकेट भी विकसित किए हैं। INSAS राइफल DRDO द्वारा विकसित एक और शानदार हथियार है जिसने AK47 या AK56 क्लासोनिकोव राइफल्स पर निर्भरता को कम किया है।

क्या आप इसरो का फुल फॉर्म हिंदी में जानते हैं?

DRDO ने पिनाका मल्टी-बैरल रॉकेट लॉन्चर भी विकसित किया है जो भारतीय सेना के लिए सबसे घातक हथियारों में से एक है।

DRDO मिसाइलें

पृथ्वी, अग्नि, आकाश, त्रिशूल, नाग मिसाइलें DRDO द्वारा विकसित की गई हैं। यह बैलिस्टिक मिसाइल रक्षा कार्यक्रम के विकास पर भी काम कर रहा है। यह रूसी निर्मित S400 मिसाइल रक्षा प्रणाली के साथ बहुत प्रभावी हो सकता है।

डीआरडीओ और इज़राइल द्वारा संयुक्त रूप से विकसित बराक 8 वायु रक्षा प्रणाली (Air Defence System) इसकी एक और उल्लेखनीय उपलब्धि है।

DRDO का फुल फॉर्म हिंदी मेंरक्षा अनुसंधान और विकास संगठन
DRDO का मुख्यालयनई दिल्ली
कब स्थापित किया गया?1958
DRDO के निदेशकडॉ जी सतीश रेड्डी

DRDO और रूसी NPO द्वारा विकसित ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल सिस्टम ने दुनिया को चौंका दिया। यह सर्वश्रेष्ठ इन-क्लास सुपरसोनिक मिसाइल है जो पिन-पॉइंट सटीकता सुनिश्चित करती है। ब्रह्मोस का नौसैनिक संस्करण पहले से ही टीयू-142 लंबी दूरी के विमानों पर तैनात है। ब्रह्मोस का वायु सेना संस्करण Su-30MKI पर स्थापित किया गया है जो इसे सर्वश्रेष्ठ साढ़े चार पीढ़ी के बहु-भूमिका वाले लड़ाकू जेट में से एक बनाता है।

DRDO पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

डीआरडीओ का फुल फॉर्म क्या है?

DRDO का पूर्ण रूप रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन है।

DRDO का मुख्यालय कहाँ है?

DRDO का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।

DRDO की स्थापना कब हुई थी?

DRDO की स्थापना 1958 में हुई थी।

DRDO के वर्तमान अध्यक्ष कौन हैं?

DRDO के मौजूदा अध्यक्ष एस सतीश रेड्डी हैं।

DRDO का मुख्य कार्य क्या है?

DRDO का मुख्य कार्य हथियारों, मिसाइलों, बख्तरबंद कारों, टैंकों, विमानन उपकरणों आदि का उत्पादन और विकास है।

Rate this post
Spread the love

Leave a Comment